एक नजर

Thursday, 22 October 2020

महात्मा बुद्ध एवं महात्मा गाँधी के विचारो में समानता || Similarities between Mahatma Gandhi and Mahatma Buddha in Hindi

         महात्मा बुद्ध एवं महात्मा गाँधी के विचारो में समानता

_______________________________________________________________________________

gautam buddha in Hindi , essay on gautam buddha in hindi , gautam budhha in hindi , gautam budhha , gautam bubdha ki jivani , biography of gautam buddha , who is buddha , biography of buddha in hindi , buddha in hindi ,  bhagwan gautam buddha ki jivani , lord gautam buddha  biography in hindi ,  life of history gautam buddha in hindi , history of gautam buddha , who is  gautam buddha , gautam buddha biography in hindi , gautam buddha history in hindi ,gautam buddha biography in hindi/gautam buddh full life story in hindi
 Gautam Buddha in Hindi

भारत नही अपितु विश्व को शांति का सन्देश देने वाले महात्मा बुध्द  एक महान समाज सुधारक  दार्शनिक ,धर्म उपदेशक , चिंतक , थे | जिनका जन्म उस कालखंड में हुआ जब हिन्दू धर्म में अंधविश्वास , पाखंड , झूठ का बोलबाला था | मनुष्य के साथ मनुष्य की तरह व्यवहार नही किया जाता था | लैंगिक असमानत अपने चरम पर था | ऐसी पारिस्थितिय में गौतम बुध्द का जन्म हुआ | महात्मा बुध्द को इनके अटूट योगदान के लिए इन्हें लाइट का एशिया की उपाधि से नवाजा गया है |जबकि महात्मा गाँधी के महान , विचरण , लेखक , राजनीतिज्ञ , समाज सुधार के थे |महात्मा गाँधी का जन्म २ अक्तूबर १८९६ को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था |इनके बचपन का नाम मोहनदास करम चद्र गाँधी था | उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी महात्मा गाँधी के सत्य एवं अहिंसा को अपने आन्दोलन का  आधार बनाया | गाँधी के विचारो एवं बुद्ध के विचारो में एक ख़ास बातो जो मिलती है वो है अहिंसा का विचार जिसको महात्मा बुद्ध ने बौद्ध धर्म और गीता से प्रभावित होकर इसे धारण किया था | किन्तु एक जगह गाँधी और  बुद्ध के विचार आपस में कटराते गाँधी जी हिन्दू धर्म के कट्टर समर्थक थे जबकि महात्मा बुध्द हिन्दू धर्म में व्याप्त  अंधविश्वास पाखंड झूठ के विरोधी थे | महात्मा बुद्ध के बौद्ध धर्म का आधार ही अहिंसा है जिसे गाँधी जी ने आत्मसात किया है | इसके अलावा  गाँधी के विचारो एवं बुद्ध के विचारो में  और भी समानताएं देखने को मिलती है | जो निम्नवत है -


                           महात्मा गाँधी 

 
  1. आसक्ति ,द्वेष व हिंसा के विचार से मुक्ति |
  2. सत्य बोलना व अप्रिय बचनो का प्रयोग न करना  |
  3. सतकर्म करना अर्थात् अच्छे कार्य करना  |
  4.  सदाचार के नियमो का अनुसरण करते हुए आजीवन चलाना |
  5.  मिथ्या धारणा का त्याग करना |   
  6.    मन को एकाग्र करना |
  7.  नैतिक , मानसिक , एवं आध्यात्मिक उन्नतिय के लिए व्यायाम करना |
  8.  सत्य 
  9. अहिंसा 
  10. चोरी न करना /अस्तेय 
  11.  मदिरा पान का सेवन न करना 

No comments:

Post a comment