एक नजर

Friday, 8 May 2020

Nationalism In Hindi

Nationalism In Hindi

राष्ट्रवाद दो शब्दों से मिलकर बना है  क्रमशः  राष्ट्र   + वाद  राष्ट्र की एक जाति , एक नश्ल के बासिंदों के लिए प्रयोग किया जाता है | जबकि वाद  एक विचार धारा का सूचक है | इस प्रकार  राष्ट्रवाद की अवधारणा  किसी  भू भाग में निवास करने वाले नागरिक जिनमे हम की भावना प्रमुख होती है | राष्ट्रवाद में समान्यतौर पर साझी संस्कृति , विश्वास , मूल्यों की प्रधानता होती है | किसी राष्ट्र में निवास करने वाले नागरिक साझी जातीयता , परम्परा , भाषा , सभ्यता , संस्कृति , इतिहास , मूल्यों के आधार पर समान होते है | यद्यपि विश्व के राष्ट्रों में प्रचलित मान्यताए पूर्णतया राष्ट्रवाद के गुणों को आत्मसात नही करती खुद भारत भी एक ऐसा राष्ट्र है जहाँ विभिन्न , जाति  , सम्प्रदाय , धर्म , संस्कृति के मानने वाले निवास करते है | उसके बावजूद भारत एक राष्ट्र है |  


No comments:

Post a comment