एक नजर

Sunday, 8 March 2020

Motivational Poem In Hindi (महिला सशक्तीकरण पर बेहतरीन कविता)

महिला सशक्तीकरण पर बेहतरीन कविता (Motivational Poem In Hindi) 

 motivational poem in hindi, motivational poem in hindi , motivational poem of women in hindi , poem of motivation in hindi
Motivational Poem In Hindi 

क्यों  अपनी  चाह को मार बैठी है
अपनी पहचान को भुला बैठी है
रोक नही पायेगा आज कोई  तेरे कदम
फिर भी क्यों तु अपने कदमों को बाँधी  बैठी है

तेरी राह टक रही है ये दुनिया
फिरभी तू क्यों अपनी
सृजनकता को सुलाए बैठी है
तोड़ दे  बधे पांव में जंजीर को

कर गुजर कुछ ऐसा
जिसकी चाह तू अपने अन्दर छुपाये बैठी है
उड़ जा खुले गगन में
तोड़ दे पैरो में बधे  जंजीर को

क्यों  तु अपने  से  ज्यादा बलवान
इस  पिजड़े को बनाये रखी बैठी है
जाग मिटा दे इस बंदिसो को
ऐ बलवान नारी

पहचान खुद को
ऐ बलवान नारी
तोड़ डाल इस पिंजरों को
ना ऐ बलवान नारी

चल पड़ ना ऐ बलवान नारी
ये दुनिया तेरी राह निहारती
ये दुनिया तेरी राह निहारती

 कवि : शिव कुमार खरवार

No comments:

Post a comment