Corona Virus In Hindi(कोरोना वायरस)

जाने आखिर क्या है कोरोना वायरस (Corona Virus In Hindi)

जाने आखिर क्या है  कोरोना वायरस (Corona Virus In Hindi),corona virus in hindi,corona virus hindi,coronavirus hindi,coronavirus,corona virus,hindi
जाने आखिर क्या है कोरोना वायरस (Corona Virus In Hindi)

आज विश्व के सामने एक गंभीर समस्या आई है | जिसे हम और आप कोरोना वायरस नाम से जानते है | जिससे निजात पाने का तरीका अभी तक ढूढा नही जा सका है | लिहाजन एतियातन के तौर पर इसको विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा इसे अंतरास्ट्रीय महामारी घोषित कर दिया गया | ताकि इसके फैलने वाले प्रभाव पर रोकथाम लगाया जा सके | कोरोना वायरस पर रोकथान लगाने के लिए कई संस्थाए प्रयासरत और इसके लिए विश्व भर की संस्थान एक जुट हो रही है | जिसके विषय में कुछ आम जानकरी यहाँ प्रदर्शित करने का प्रयास  किया गया ताकि आप अपने एवं अपने परिवार की सुरक्षा को सुनिश्चित कर सके | कही आपकी एक चुक की वजह से इस वायरस के प्रभाव से आप ग्रसित न हो जाए | ये कुछ वो आम बाते है जिनका पालन या समझकर करके आप अपने और परिवार को कोरोना वायरस से संक्रमित होने से बचा सकते है |यह वह परिस्थिति है जिस समय जरूरत है सतर्कता की , जागरूकता की ताकि आप अपने और अपनों को कोरोना वायरस के चपेट में  आने से बचा सके |


आज हम आप इस वायरस से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी को जानेगे और उसको साझा करेंगे


क्या है कोरोना वायरस(what is corona virus)? - 



चीन से शुरू होने वाला कोरोना नामक  वायरस अपने तरह का अनोखा वायरस है जिससे निजात पाने का तरीका अभी तक ढूढा जा पाना सम्भव नही हो पाया है | या यूँ कहे की यह अपने तरह का बिलकुल नया वायरस है जिसे नोवेल कोरोना वायरस के नाम से जाना जाता है |जिससे होने वाली बीमारी को विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा  COVID-19 नाम दिया गया है | यह एक ऐसा वायरस है जिसका जेनेटिक मेटेरिअल RNA होता है तथा कोरोना का लैटिन भाषा में अर्थ मुकुट होता है कोरोना वायरस मुख्यरूप से जानवरों में फैलते है | मुख्यत: यह चमगादड़ में पाया जाने वाला वायरस है | किन्तु नोवेल कोरोना वायरस एक ऐसा वायरस है जो किसी संक्रमित व्यक्ति को छूने अथवा उसकी वस्तु को साझा करने इत्यादि तरीको से फैलता है यह एक ऐसा वायरस है जो एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति तथा एक जानवरों से दुसरे जानवरों में तेजी से फैलता है | जिससे निजात पाने का तरीका अभी नही मिला है |


क्या है कोरोना वायरस के लक्षण (synptoms of coronavirus)? -किसी भी व्यक्ति में निम्न लक्षण दिखने पर Doctor से सम्पर्क करे

  1. FEVER(बुखार)
  2. DRY COUGH(सूखी खासी)
  3. DIFFICULTY BREATHING(सांस लेने में दिक्कत होना)
  4. MUSCLE PAIN(शारीर में दर्द)
  5. TIREDNESS(थकान)

कहा से आया कोरोना वायरस(where do corona virus come from )? -इस वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर(जो एक नॉन-वेज बाजार है) से दिसम्बर 2019 हुई जो  अब तक लगभग  दुनिया के 188 देशो को अपनी चपेट में ले  चुका  है  |


खुद को और दूसरो को बीमार होने से कैसे बचे (how to protect yourself and other from corona virus)? -







कोरोना वायरस से बचने के लिए निम्न नियमो या निर्देशों का पालन करे -






22 मार्च को भारत सरकार के द्वारा कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए बड़े कदम का आगाज किया गया जिसे जनता कर्फ्यू का नाम दिया गया जिसमे जनभागीदारी की मांग की गई -







देश में मडराता कोरोना संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने पुरे देश को किया 21 दिनों के लिए लॉकडाउन  


24 मार्च 2020 को रात्रि आठ बजे भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय जनता को सम्बोधित करते हुए | कोरोना वायरस के प्रभाव को निष्क्रिय करने के उद्देश्य से अगले 21 अर्थात् तीन सप्ताह  दिनांक 15  अप्रैल  2020 तक के लिए हर गाँव , हर कस्बे , हर शहर को को पूरी तरह से लॉकडाउन कर  दिया | यह भारत सरकार के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की दिशा में दूसरा सबसे बड़ा कदम है |आज अपना पड़ोसी देश पाकिस्तान स्टेज 3 पर आ पहुँचा है| अत : भारत सरकार के पास  कोरोना के रोकथाम एक मात्र तरीका , जो बचा है वह सोशल डिस्टेंस ताकि कोरोना वायरस के फैलते चैन को तोड़ा जा सके | प्रधानमंत्री जी यही नही रुके उन्होंने कोरोना वायरस को एक नये तरीके के परिभाषित करते  लोगो जागरूक किया ताकि सोशल डिस्टेंस को बनाया जा सके और कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर रोक लगाया जा सके |

को - कोई  
रो -  रोड पर 
ना - ना निकलें 



अपने हाथ को आवश्यकता अनुसार साबुन या जेल की सहायता से धोये(wash your hand frequently)
जिसको भी खासी या जुखाम हो उससे कम से कम 1-मीटर(3-फीट) की दुरी बनाये रखे(maintain social distancing)
हाथ मिलाने से बचे और कहे नमस्ते(say namaste)अपने आँख ,नाक और मुख को छूने से बचे(avoid touching eye ,nose and mouth)
बुखार ,खासी,जुखाम,और सांस लेने में दिक्कत होने पर चिकित्सक से तुरंत सम्पर्क करे(gate medical care in a serious situation)
छींकते या खांसते समयमुह और नाक को मुड़ी हुई कोहनी या टिश्यू से ढक लें और उपयोग के तुरंत बाद टिश्यू को डस्टबीन में फेके(use tissue and drop in dustbin)
जुखाम ,खांसी होने पर भीड़ में न जाए नजदीकी सम्पर्क से बचे(maintain social distance if you have coughing or sneezing)


अपने हाथों को कब धोंये(when do we wash hand)? -
  • खाँसने या छिकने के तुरन्त बाद (after coughing or sneezing)
  • खाना बनाने से पहले तथा बाद (before and after preparing food)
  • खाना खाने से पहले (before eating food)
  • शौचालय से आने के बाद (after toilet use)
  • हाथ के गन्दे हो जाने पर(when hand are visible dirty)
  • पशु को छूने के बाद(after touching animal)


माना की अँधेरा घना है मगर दीपक जलाना कहा मना है इसलिए अपने अंदर हमेशा आशा की किरणों को जलाए रखे घबराए नही बल्कि सतर्कता बरते , मन को शांत रखे , लोगो को भी जागरुक करे |


कब और कैसे मास्क का उपयोग करे(when and how use mask)? -
मास्क का उपयोग कैसे -

  • जब आप किसी संदिग्ध संक्रमित व्यक्ति की देखभाल  कर रहे हो तब मास्क पहने
  • अगर आपको खांसी या छींक आ रही हो तब मास्क पहने
  • जब आप किसी भीड़-भाड़ वाले स्थान पर जाये तब मास्क पहने
  • चहरे पर मास्क पहनने से पहले हाथ को जेल या साबुन से धोयें
  • मास्क से मुह और नाक को इस प्रकार  ढके की चेहरे और मास्क के बीच अंतर न हो
  • उपयोग करते समय मास्क को छूने से बचे 


WHO ने साझा किये कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी :

कोरोना वायरस गर्म और ठण्डे दोनों प्रकार की जलवायु में फैलता है (transmission of corona virus) कोरोना वायरस को शर्दी नही मार सकती(effect of temperature on corona virus)कोरोना वायरस मच्छरों के काटने से नही फैलता है(corona virus can not transmit by bites of mosquito)
लहसुन को खाने से कोरोना के संक्रमण पर कोई प्रभाव पड़ता अथवा नही इसके कोई प्रमाण नही मिले है |  
सूखे हाथ का प्रभाव कोरोना वायरस पर  नही पड़ता |

यात्रा करे या नहीं

इस वायरस से संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है ऐसे मे यात्रा बिल्कुल न करे क्योंकि संक्रमित व्यक्ति के यात्रा करने के कारण ही यह वायरस चीन से 188 देशों में फैल चुका है।बुखार,खांसी होने पर यात्रा न करे डॉक्टर से सम्पर्क कर अपनी पिछली यात्रा हिस्टरी साँझा करे|

-आवश्यक सावधानियाँ -

(1) वायरस हवा के माध्यम से एक नगर से दुसरे नगर ,एक शहर से दुसरे शहर नहीं फ़ैल रहा यह वायरस केवल संक्रमित व्यक्ति या संक्रमित वस्तु के एक स्थान से दुसरे स्थान पर जाने से फैलता है -अतः यात्रा न करे |


(2) यदि वायरस हमारे हाथ ,पैर या कपड़ा से टच(छुता ) जाता है इसका मतलब यह नहीं हुआ की आप covid-19 नामक बीमारी से ग्रसित हो गए जब तक यह वायरस आपके आँख ,नाक या मुँह तक नही पहुँच जाता यह आपको संक्रमित नहीं कर सकता है तब तक आप केवल वायरस के वाहक(कैरियर) बने रहेंगे | -अतः हाथ को बार -बार साबुन से धोये तथा नाक ,आँख ,और मुँह को छूने से बचे |

(3) covid-19  का संक्रमण  कमजोर रोग -प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगो के लिए घातक हैं बच्चों और 50 साल से अधिक उम्र वाले बुजुर्गो की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बेहद कमजोर होती है  -अतः इन्हें घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए |


 (4)लम्बी दुरी तैय करके बाहर से आने वाले व्यक्ति को छूने से बचे अथवा छूने बाद अपने हाथ को साबुन से अवश्य धुल ले |


 ( 5 ) किन्ही आवश्यक घड़ी में ही घर से बाहर निकले यदि आप घर से बाहर किसी आवश्यक  वस्तु को खरीदने के उददेश्य से जा रहे है तो इस बात ध्यान रखे की जिस  समान/ वस्तु  को  ले रहे अथवा लेने  के दौरान अथवा बाद में भी अपने हाथो से अपने मुँह , नाक , आँखों को  छूने से बचे क्योकि ऐसा हो सकता है कि  जिस व्यक्ति से आपने वस्तु खरीदी हो | वह व्यक्ति अथवा  वस्तु ही संक्रमित हो अत : इस बात का पूरा ध्यान रखे  | इसके अलावा वस्तु ( साग ,सब्जिय इत्यादि )  को बिना धोए  उपयोग में न लाये  और स्वयं के हाथो को बिना  साबुन से धोए  अथवा सेनेटाईज  किये बिना परिवार के किसी भी सदस्य को न छुए अथवा अपने ही मुँह , नाक , आँख को  छुए  |

कोरोना वायरस के प्रसार के खतरे के आधार पर इसको चार चरणों में बाँटा गया है -

स्टेज 1 आयातित मामले - विदेशो के द्वारा भारत में संक्रमण फैलने का खतरा या कहे विदेश से आये संक्रमित लोगो से भारतीय  के लोगो में  कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बना रहता है | या कोई भी मरीज जो कोरोना से संक्रमित है | बशर्ते वः विदेश से भारत में आया हो इस मामले के तहत ऐसे केसों को रखा जाता है |

स्टेज 2  स्थानीय स्तर ट्रांसमिशन - के तहत वे मामले आते है जिसमें संक्रमित व्यक्ति जिन्होंने विदेशो में यात्रा की हो उनसे अन्य लोगो में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बना रहता है  | या बीमारी के स्त्रोतों का ज्ञात होना इसका मतलब यह हुआ की वायरस का प्रभाव इसके रिश्तेदारो , अथवा सगे सम्बन्धियों के माध्यम से हो |

स्टेज 3 कमुनिटीय ट्रांसमिशन  - के तहत वे मामले आते है जिनमे संक्रमित व्यक्ति भीड़ के समूह के  में  कोरोना वायरस का प्रसार करता है | या यह वः अवस्था है जिसमे व्यक्ति को यह ज्ञात नही होता की उसे व्यक्ति के माध्यम से संक्रमित हुआ है अर्थात् समुदाय या जन समूह , लोगो से संक्रमित होने का भय हो |

स्टेज 4 महामारी की अवस्था - वह अवस्था है जब कोरोना वायरस के संक्रमण बहुत तेजी से फैलने लगता है | जिस पर काबु पाना सम्भव नही रह जाता है ऐसे में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगो की संख्या में बेतिहासा बढ़ोत्तरी हो जाती है | या यह वायरस के संक्रमण की अवस्था होती है जिसमे लोगो को यह ज्ञात नही होता की कितने लोग वायरस के प्रभाव के ग्रसित है न उनका कोई सरकारी आकड़ा रखा जा पाना मुनकिम हो कहते का तात्पर्य यह की वायरस का संक्रमण इतना बढ़ जाए की उस पर नियत्रण न हो सके |


भारत में कोरोना संक्रमित और मरे लोगो की दिनांक अनुसार अपडेटेड जानकारी (Update Data Of Death And Infected people In India) -

अपडेट दिनांक
(Update Date)
कुल संक्रमित भारतीयों की संख्या
(Total Case In India)
कुल मरे लोगो की संख्या भारत में
(Total Death In India) 
29/03/2020987 24



विश्व स्तर पर कोरोना संक्रमित और मरे लोगो की दिनांक अनुसार अपडेटेड जानकारी(Update Data Of Death And Infected people In World) -



अपडेट दिनांक
(Update Date)
कुल संक्रमित लोगो की संख्या
(Total Case In World)
कुल मरे लोगो की संख्या
(Total Death In World) 
कुल ठीक हुए लोगो की संख्या
(Total Recovered In World) 
29/03/2020663,74930,880142,184



कोरोना वायरस हिन्दी में(corona virus in hindi)  नामक  यह आर्टिकल आपको कैसा लगा आपके इसके सुझाव कॉमेट बॉक्स में कॉमेट करके दे सकते है |  धन्यवाद !



Post a Comment

0 Comments